तीन करोड़ की जालासाजी का आरोपी दंपती मेरठ से गिरफ्तार

शैलेंद्र कुमार और शिवानी देवी ने कई राज्यों के लोगों से की लाखों की ठगी/जसीडीह में भी रहकर भी आरोपी दंपती ने बनाया ठगी का शिकार

देवघर/संवाददाता। बेटे और पत्नी के साथ मिलकर करीब तीन करोड़ से अधिक की ठगी को अंजाम देने का आरोपी दंपती रविवार को देवघर पुलिस के हत्थे चढ़ा। शैलेंद्र कुमार को पुलिस ने उसकी पत्नी शिवानी देवी के साथ गिरफ्तार किया। पुलिस ने हिरासत में लेकर उससे गहन पूछताछ की और दोनों को जेल भेज दिया गया। आरोपी जमशेदपुर का मूल निवासी है। वह हाल के दिनों में जसीडीह स्थित कजरिया कॉलोनी में भाड़े के मकान में रहते हुए कुछ दिनों पहले जालसाजी कर सपरिवार फरार हो गया था। पत्रकारों से बातचीत में एसपी नरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस को आरोपी के मेरठ में होने की गुप्त सूचना मिली थी। सूचना पर तकनीकी शाखा और यूपी पुलिस के सहयोग से जसीडीह पुलिस ने शैलेंद्र कुमार और उसकी पत्नी शिवानी देवी को मेरठ के पल्लवपुरम से गिरफ्तार किया है। इस दौरान पुलिस ने मौके से एक लेपटॉप और चार मोबाईल फोन बरामद किया है। दोनों आरोपी श्री श्याम लघु उद्योग के नाम पर कई लोगों से जालसाजी कर लाखों रुपये का चूना लगाकर फरार हो गये थे।

कैसे कर ली कईयों से ठगी

शैलेंद्र कुमार और उसकी पत्नी ने विभिन्न लोगों को कंपनी खोलने के नाम पर पार्टनरशिप का लालच देकर करीब साढ़े तीन करोड़ रुपये से अधिक की ठगी की। मामले को लेकर देवघर स्थित बिलियम्स टाउन निवासी सुदीप कुमार, पिता शंभु प्रसाद सिंह ने करीब 35 लाख रुपये की ठगी की शिकायत की है। जबकि जसीडीह थाना के चांदपुर गांव निवासी सुनील कुमार पिता गंगाधर पोद्दार ने करीब 35 लाख, भागलपुर के एकचारी थाना स्थित रसलपुर निवासी हंसराज विरल पिता दीप नारायण शाह ने करीब 30 लााख की ठगी, भागलपुर के कहलगांव निवासी राकेश रौशन, पिता विजय कुमार मंडल ने करीब 20 लाख, देवघर के बिलासी टाउन निवासी कौशल किशोर से दो लाख, बिलासी टाउन के दिवाकांत झा से जमीन के नाम पर 9 लाख रुपये, झौंसागढ़ी निवासी मणिशंकर केशरी से 11 लाख, धनबाद के कतरास निवासी विभा देवी से 1.60 लाख रुपये की ठगी समेत नौलखा देवघर के आरएस पांडेय से 15 लाख रुपये की ठगी करने का आरोप लगाया है। जसीडीह में उसने अपने मकान मालिक को भी ठगी का शिकार बनाया था। इसी तरह यूपी के एक युवक ने नौकरी लगाने का झांसा देकर 50 हजार रुपये की ठगी को अरोप लगाया है।

बैंकों को भी बनाया निशाना

आरोपी दंपती पर बैंकों से भी जालसाजी का आरोप है। दोनों आरोपी ने जसीडीह स्थित इलाहाबाद बैंक से साढ़े नौ लाख रुपये लोन लिया था। इस दौरान इलाहाबाद बैंक में कार्यरत एसिस्टेंट मैनेजर को झांसे में रखकर निजी खाते से अपने खाते में दो लाख रुपये का ट्रांजक्शन कराया। इसके अलावा एसबीआई के कई खातों से लोन की बात सामने आयी है।

छापेमारी दल में शामिल पुलिस टीम

साढ़े तीन करोड़ की जालसाजी करने वाले आरोपी दंतपी को गिरफ्तार करने के लिए एसपी के नेतृत्व में विशेष टीम गठित की गयी। गठित टीम में जसीडीह थाना से सअनि प्रदीप कुमार सिंह, राजू सोरेन और नगर थाना से सअनि रामानंद सिंह और पुलिस कार्यालय से विश्वजीत कुमार सिंह शामिल थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *