पाक के बड़े हिस्से पर भारत के इसरो की नजर

इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (इसरो) के सैटेलाइट्स पाकिस्तान के 87 फीसद हिस्से पर रख रहा है दृष्टि

इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (इसरो) देश के लिए सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण होने के साथ अंतरिक्ष में भारत का डंका बजा रहा है। क्योंकि इसरो के सैटेलाइट्स पाकिस्तान के 87 फीसदी हिस्से पर नजर रख रहा है। साथ ही यह एचडी क्वालिटी की मैपिंग करते हैं, जो बालाकोट एयर स्ट्राइक जैसे ऑपरेशंस के लिए सशस्त्र बलों के लिए अहम इनपुट होते हैं। दरअसल, भारतीय सैटेलाइट्स पाकिस्तान के कुल 8.8 लाख वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में से 7.7 लाख वर्ग किमी हिस्से पर नजर रखने में सक्षम है।

सूत्रों के अनुसार भारत के ये सैटेलाइट्स भारतीय कमांडर्स को 0.65 मीटर तक की एचडी तस्वीरें दे रहे हैं। अहम तो यह है कि भारत की यह क्षमता दूसरे पड़ोसी देशों के लिए भी है। भारतीय सैटलाइट्स 14 देशों के कुल 55 लाख वर्ग किलोमीटर हिस्से को मैप कर सकते हैं। हालांकि अभी चीन को लेकर जानकारी उपलब्ध नहीं है। सूत्रों के अनुसार यह कवरेज कार्टोसैट सैटेलाइट्स से है।

मालूम हो कि 17 जनवरी को अंतरिक्ष राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा था कि भारत अपने पड़ोसी पाकिस्तानी घरों में झांक सकता है। उनकी यह बात कोई मजाक नहीं था। उन्होंने कहा था कि भारत का इन्टीग्रेटिड बॉर्डर मैनेजमेंट सिस्टम पाकिस्तान के घरों और बरामदों को देखने में सक्षम है। इन दिनों भारतीय एयरफोर्स इसरो से बहुत खुश है। एक एयर मार्शल ने पिछले सप्ताह कहा था कि क्या हमें अधिक सैटेलाइट्स की जरूरत है? उनके सवाल का जवाब हां में ही होगा, मगर भारत की 70 फीसदी जरूरत पहले से पूरी हो रही है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *