जाधव की मां ने पाकिस्तानी चाल को कर दिया नापाक

कुलभूषण जाधव पर दबाव बनाकर जासूसी का आरोप कबूल कराने की पाक कोशिश को किया विफल

पाकिस्तान में भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ यानी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग के लिए जासूसी के आरोप में गिरफ्तार भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। खबरों के मुताबिक मां और पत्नी को जाधव से मिलने का मौका देकर पाकिस्तान एक तीर से दो निशाने लगाना चाहता था। पहले तो पाकिस्तान इसके जरिए अपना कथित ‘मानवीय चेहरा’ दुनिया के सामने प्रस्तुत करना चाहता था। दूसरी ओर दबाव बनाकर मां और पत्नी के सामने ही जाधव से कबूल करवाना चाहता था कि वे रॉ के लिए जासूसी के सिलसिले में वे पाकिस्तान आये थे। हालांकि कुलभूषण जाधव की मां अवंती ने इस पाकिस्तानी चाल को नापाक कर दिया।

खबर के अनुसार पाकिस्तान के सख्त इंतजामों के बीच जाधव की जब उनकी मां और पत्नी से मुलाकात हुई तो वह वही सब बातें दोहरा रहे थे जो उन्होंने पहले भी दबाव में कथित तौर कही थीं और जिनके वीडियो पाकिस्तानी अधिकारियों ने मीडिया के लिए जारी किया था। मसलन पाकिस्तान उनसे कबूल कराना चाहता था कि वे ‘रॉ के लिए जासूसी करते हुए पकड़े गए हैं।’ लेकिन, जाधव की मां के कारण पाक का दांव उल्टा पड़ा।

जाधव की मां ने मुलाकात के दौरान ही उन्हें टोक दिया। उनकी मां ने अपने बेटे को झिड़कते हुए कहा कि ‘तुम यह सब क्यों कह रहे हो? तुम ईरान में कारोबार कर रहे थे और तुम्हें वहां से गिरफ्तार किया गया है। यही सच तुम्हें सबको बताना चाहिए।’ मां के झिड़कने से कुलभूषण जाधव ने उनके सामने ही अपने विरुद्ध दायर आरोप पत्र का पूरा कच्चा-चिट्ठा खोल दिया। इस बीच ज्यादातर समय जाधव की पत्नी चेतना चुप रहीं। सूत्रों के अनुसार 70 वर्षीया अवंती जाधव की इस दखलंदाजी से पाकिस्तान की पूरी चाल नापाक हो गयी। क्योंकि इस मुलाकात की रिकॉर्डिंग को वह जाधव के कबूलनामे की तरह इस्तेमाल करना चाहता था।

सूत्र बताते हैं कि भारत ने जोर देकर अवंती को चेतना के साथ भेजा था। एक अन्य खबर के अनुसार जाधव से मिलने पर उनकी मां और पत्नी पहले से कहीं ज्यादा परेशान हैं। उनके एक रिश्तेदार ने समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत में कहा कि ‘हम बहुत निराश हैं और उन लोगों (अवंती व चेतना की) की पाकिस्तान यात्रा के बारे में कोई बात नहीं करना चाहते। दरअसल, यह मसला अंतरराष्ट्रीय है और इसे भारत सरकार सुलझा रही है, ऐसे में अगर इस पर कुछ कहें तो मामला बिगड़ सकता है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *