विहिप और बीएमएस में बड़े बदलाव की ‘संघी तैयारी’

तोगड़िया, विर्जेश उपाध्याय और राघव रेड्डी से नाराज चल रहा आरएसएस इन्हें हटाने पर आमदा!

प्रधानमंत्री मोदी, भाजपा और केंद्र सरकार के खिलाफ बागी तेवर अपना चुके विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया को उनके पद से हटाने की खिचड़ी पकने लगी है। दरअसल, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ यानी आरएसएस प्रवीण तोगड़िया और भारतीय मजदूर संघ के महासचिव विर्जेश उपाध्याय से नाराज चल रहा है। संघ इन दोनों नेताओं को उनके पदों से हटाने की तैयारी में है। मालूम हो कि दोनों नेता बागी हो गये हैं और कई बार भाजपा व मोदी सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर चुके हैं।

इतना ही नहीं विहिप के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष राघव रेड्डी को भी हटाने की तैयारियों की सुगबुगाहट है। सूत्रों की माने तो इन तीनों नेताओं ने अपने एजेंडे के लिए सरकार को शर्मिंदा किया है। लिहाजा, उनकी गतिविधियों से संघ के पदाधिकारी नाराज हैं। संघ की विचारधारा से जुड़े इन तीनों नेताओं को लग रहा है कि विहिप और भातरीय मजदूर संघ यानी बीएमएस जैसे बड़े संगठनों का इस्तेमाल संघ की विचारधारा को फैलाने में नहीं किया जा रहा है।

आरएसएस के अंदरखाने चर्चा है कि फरवरी के अंत में वीएचपी की कार्यकारी बैठक होगी। खबरें निकल कर आ रही हैं कि बैठक में संघ की तरफ से नये अध्यक्ष के लिए चुनाव कराने पर जोर दिया जाएगा, ताकि राघव रेड्डी और प्रवीण तोगड़िया को उनके समर्थकों के साथ हटाया जा सके। मार्च से पहले नये विहिन अध्यक्ष का चुनाव कराया जा सकता है। मालूम हो कि हाल ही में प्रवीण तोगड़िया ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया था कि वह उनका एनकाउंटर कराना चाहती थी।

तोगड़िया ने स्पष्ट तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लेकर कई आरोप लगाया था। ऐसा करके तोगड़िया ने पहले से लगी आग में घी डाल दिया है। सूत्रों के मुताबिक भाजपा सरकार के खिलाफ संघ ने बोलने वालों पर कार्रवाई करने का मन बना लिया था। संघ चाहता है कि उसके बड़े संगठन सरकार से सीधे न भिड़ें और मतभेदों को मैत्रीपूर्ण माहौल में ही दूर कर लें। फिलहाल आरएसएस के भीतर बहुमत ऐसा मानने वालों का है, जो समझते हैं कि अब संगठनात्मक परिवर्तन करना ही होगा। क्योंकि वे मानते हैं कि ऐसा किये बिना 2019 के चुनाव से पहले किसी भी तरह के विवाद को खत्म करना आसान नहीं होगा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *