गैंग रेप के बाद युवती की लगा रेत कर की हत्या

पांच युवकों ने शहरी क्षेत्र से अगवा कर युवती को बोलेरो पर बैठा कर ले भागे / मृतका के पिता ने पांच लोगों पर लगाया दरिंदगी का आरोप/ बासुकीनाथ के सरडीहा शमसान काली मंदिर के पास मिला शव

दुमका/निज संवाददाता। शहरी क्षेत्र के शिव पहाड़ के समीप से अलवा की गयी एक युवती की सामूहिक दुष्कर्म के बाद गला रेत कर हत्या कर दी गयी है। उसके शव पर चाकू से हमले के कई जख्म पाये गये। इससे पहले मंगलवार की शाम बोलेरो से उतरे पांच लोग युवती का अगवा कर भाग निकले थे। जरमुंडी थाना क्षेत्र के दुमका-देवघर मार्ग पर बुधवार को बासुकीनाथ के सरडीहा शमसान काली मंदिर के पास से युवती का शव बरामद हुआ। युवती का सलवार खुली हालत में मिला। जबकि पास से ही उसका बैग बरामद हुआ। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद लाश परिजनों को सौंप दिया है। युवती की पहचान जरमुंडी थाना क्षेत्र के ही हरिपुर गांव के पिंकू शेख की पत्नी अजुबा खातुन उर्फ सलमा के रूप में की है। आशंका जतायी जा रही है कि अगवा करने के बाद उससे सामूहिक दुष्कर्म हुआ। बाद में गला रेत कर उसकी हत्या कर दी गयी।

क्या है पांच युवकों पर मृतका के पिता का आरोप

अजुबा का मायका सरैयाहाट थाना क्षेत्र के पथरा गांव में है। मृतका के पिता युसूफ ने पुलिस को दिये बयान में पांच युवकों पर अपरहण कर हत्या करने का अरोप लगाया है। इनमें सोहेल उर्फ आशिफ खान, फिरोज खान, पप्पू उर्फ शेर खान, मुशा खान और शहरूख खान शामिल है। सभी आरोपी युवक दुमका नगर थाना क्षेत्र के लखीकुंडी मोहल्ले के बताये गये हैं। पिता ने बताया कि अजुबा मंगलवार को दुमका आयी थी। वह श्रम विभाग से मजदूरों के निबंधन कराने का काम करती थी। मंगलवार को दुमका आने के बाद वह 3 से 4 बजे के बीच श्रम कार्यालय जा रही थी। इसी बीच शिवपहाड़ के आगे अजुबा को 4-5 लड़कों ने बोलेरो गाड़ी में अगवा कर लिया।

मौत से पहले युवती ने पिता से की थी फोन पर बात

खुद के अगवा किये जाने की पूरी कहानी अजुबा ने लड़कों के चुंगल से ही फोन पर पिता युसूफ को दी थी। इसी दौरान अजुबा का मोबाइल युवकों ने छीन लिया। पिता ने घटना की जानकारी अपने रिश्तेदारों को दी और नगर थाना पहुंचे। नगर थाना में बेटी को अगवा किये जाने की जानकारी देते हुए उसकी सकुशल बरामदगी की गुहार लगायी। बेटी की बरामदगी के लिए पिता ने पूरी रात थाने में ही गुजारी पर कुछ पता नहीं चला। वह बुधवार की सुबह 10 बजे तक बेटी की बरामदगी को लेकर पुलिस से गुहार लगाता रहा। मगर, 10 बजे के बाद उसे अजुबा का शव मिलने की फोन पर सूचना मिली तो वह घटनास्थल के लिए रवाना हो गया।

20 दिन पूर्व दी थी जान से मारने की धमकी

युसूफ शेख ने बताया कि सोहेल ने अजुबा को 20 दिन पूर्व जान से मारकर फेंक देने की धमकी दी थी। दरअसल, अजुबा और उसके पति ने नगर थाना में सोहेल उर्फ आशीफ खान पर जान से मारने और छेड़खानी का मामला भादवि की धारा 354 के तहत कांड संख्या 65/18 दर्ज करवाया था। सोहेल लगातार अजुबा को केस नहीं उठाने पर अंजाम भुगतने की धमकी दे रहा था।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *