अंधविश्वास: बच्चे को जिंदा करने के लिए लाश पर रगड़ी नमक

कुंए में डूबने से हुई बच्चे की मौत, शव के साथ किया बेरहम प्रयोग

गिरिडीह/संवाददाता। कुंए में डूबने से तीन साल के बच्चे की मौत के बाद बच्चे को जीवित करने के लिए लोगों ने अजीब तरीके के अंधविश्वास का सहारा लिया। बच्चे के शव के साथ कुछ प्रयोग कर कुछ लोगों ने बच्चे को जीवित करने का दावा दिया। साथ ही बच्चे के शव को घंटों नमक की ढेर पर रखा गया। इसपर भी बच्चा जीवित नहीं हुआ तो उसकी लाश पर नमक रगड़ी गयी। घटना राजधनवार थाना क्षेत्र के कुबरी गांव की है। यहां 3 वर्षीय एक बच्चे की मौत कुंए में डूबने से हो गई। बाद में स्थानीय लोगों की मदद से किसी तरह शव को कुंए से निकाला गया। इतना ही नहीं लोगों ने अंधविश्वास की हद को पार करते हुए मरे हुए बच्चे को जिंदा करने का दावा किया।

समाचार लिखे जाने तक बच्चे को प्राकृतिक तरीके से जिंदा करने का प्रयास परिवार वाले व गांव के लोग कर रहे थे। बताया जाता है कि नकुल राम का तीन वर्षीय पुत्र आर्यन खेलते-खेलते ऑक्सफॉर्ड स्कूल के समीप स्थित एक विशाल कुंए में जा गिरा। जब परिवार वालों ने खोजबीन शुरू की तो देखा कि आर्यन कुंए में गिरा हुआ है। आनन-फानन में ग्रामीणों के सहयोग से बच्चे को रस्सी-बाल्टी के सहारे किसी तरह कुंए से निकाला गया। जहां एक ओर कुछ लोग बच्चे को किसी भी तरह से जिंदा करने का प्रयास कर रहे हैं, वहीं परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *