दुमका की नेत्रहीन छात्राएं हुई यौन शोषण की शिकार

ब्लाइंड स्कूल की तीन छात्राओं के सामने आने से हुआ खुलासा/ सुरक्षा प्रहरी, स्कूल सचिव व केयर टेकर पर लगा यौन शोषण का आरोप/ दो आरोपी प्रभार से हटाने जाने के बाद हुए फरार

दुमका/निज संवाददाता। दुमका में ब्लाइंड स्कूल की छात्राओं की आबरू भी सुरक्षित नहीं है। ऐसा खुलासा स्कूल की तीन नेत्रहीन छात्राओं के खुलकर सामने आने से हुआ है। जिला मुख्यालय से दो किमी दूरी पर हिजला गांव में स्थित नेत्रहीन आवासीय विद्यालय में बालिकाओं का यौन शोषण के बाद स्कूल के केयर टेकर और गार्ड मुकेश महतो फरार हंै। छात्राओं ने स्कूल के सचिव शिवनंदन महतो पर भी यौन शोषण का आरोप लगाया है। विद्यालय की छात्र-छात्राओं ने शनिवार को घटना का खुलकर कर विरोध किया। जिला समाज कल्याण कार्यालय से संचालित इस नेत्रहीन आवासीय विद्यालय में छात्राओं से छेड़खानी और छात्रों को प्रताड़ित करने का सिलसिला पिछले दो वर्षों से चल रहा था, लेकिन पिटायी के डर से छात्र चुप थे। जब मुकेश ने हद पार कर दी तो छात्राओं ने इसका विरोध किया।

जामा सीडीपीओ को मिला जांच का आदेश

जिला समाज कल्याण पदाधिकारी श्वेता भारती ने बताया है कि घटना की जानकारी के बाद जामा सीडीपीओ को इस मामले की जांच का आदेश दिया गया है। प्रारंभिक जांच में मिले तथ्यों के आलोक में विद्यालय के सचिव शिवनंदन महतो और रात्रि प्रहरी मुकेश महतो को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है। जांच रिपोर्ट के आलोक में दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

पीड़ित तीन छात्राओं की आपबीती

पीड़ित तीन नेत्रहीन छात्राओं ने बताया कि मुकेश गंदी-गंदी बातें छात्राओं से करता है। वह पिछले 2 सालों से यह सब कर रहा था। लेकिन, स्कूल के सविच शिवनंदन महतो उसके जीजा हैं। सो, कोई कार्रवाई उसके खिलाफ नहीं हुई है। छात्राओं ने बताया कि गुरुवार को मुकेश लड़कियों के रूम में गया और तीनों छात्राओं से अभ्रद बातें करने लगा। एक छात्रा के पास रखा मोबाइल भी मुकेश ने छीन लिया और छात्रा को अपने कपड़े उतारने के लिए कहने लगा। कपड़े नहीं उतारने पर उसने तीनोें छात्राओं को पीटा। साथ ही उनका मोबाइल अपने साथ लेकर बाहर आ गया। छात्राओं ने बताया कि जब सभी छात्राएं अपने बेड में सो गई तो मुकेश हथौड़ी लेकर दोबारा कमरे में आया। लेकिन, छात्राओं के जागने पर वह भाग गया। शनिवार को मामला जब सामने आया तो छात्रा से छीनी गयी मोबाइल विद्यालय सचिव शिवनंदन महतो के पास से बरामद की गयी। छात्राओं ने बताया कि स्कूल के सचिव शिवनंदन महतो अपने कार्यालय कक्ष में छात्राओं को किसी भी कार्य में बुलाकर शरीर के किसी भी अंग में हाथ डाल देते हंै। विरोध करने पर स्कूल से बाहर कर देने की धमकी देते हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *