एसपी हत्याकांड में दो नक्सली दोषी करार

काठीकुंड हत्याकांड में दोषियों की सजा पर फैसला 26 सितंबर को/ 2 जुलाई 2013 को काठीकुंड के पास एसपी व पांच पुलिस कर्मियों की नक्सलियों ने की थी हत्या/ प्रवीर और सनातन दोषी सिद्ध हुए, 5 किये गये बरी

दुमका/निज संवाददाता। दुमका के चतुर्थ जिला एवं सत्र न्यायाधीश तौफीकुल हसन की विशेष अदालत ने गुरुवार को तत्कालीन पाकुड़ एसपी अमरजीत बालिहार के अलावा 5 पुलिस कर्मियों की हत्या मामले में प्रवीर दा उर्फ सुखलाल मुर्मू और सनातन बास्की उर्फ ताला दा को दोषी करार दिया गया। दोनों अभियुक्तों को 26 सितंबर को सजा सुनाई जाएगी। इस केस में गिरफ्तार पांच अभियुक्तों- वकील हेम्ब्रम, लोबीन मुर्मू, सत्तन बेसरा, मारबेल मुर्मू और मारबेल मुर्मू-2 को अदालत ने संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया है।

इस कांड को लेकर भादवि की धारा 147, 148, 149, 326, 307, 379, 302, 427, 27 शस्त्र अधिनियम और 17 सीएलए के तहत प्रवील दा, ताला दा, दाउद, जोसेफ और 25 से 30 अज्ञात के खिलाफ कांड सं. 55/13 के तहत काठीकुंड थाने में मामला दर्ज किया गया है। इस केश में अभी सात अभियुक्तों का ट्रायल चल रहा था, जिसमें प्रवील दा उर्फ सुखलाल मुर्मू, वकील हेम्ब्रम, मारबेल मुम, मारबेल मुर्मू-2, सत्तन बेसरा, सनातन बास्की उर्फ ताला दा शामिल है। हत्याकांड में कुल 31 गवाहों के बयान कोर्ट में दर्ज हुए। केस में गवाही की प्रक्रिया पूरी होने के बाद गुरुवार को बचाव पक्ष के अधिवक्ता राजा खान, अवध बिहारी सिंह, केएन गोस्वामी और सोमा गुप्ता ने अपनी दलील दी। जिसके बाद अभियोजन के ओर से बहस पूरी होने पर अदालत ने 7 में से 2 अभियुक्तों को सिद्धदोष करार दिया।

2 जुलाई 2013 की है घटना

ज्ञात हो कि 2 जुलाई 2013 को दुमका में डीआईजी कार्यालय में बैठक के बाद एसपी अमरजीत बलिहार दो वाहनों से पाकुड़ लौट रहे थे। तभी घात लगाए काठीकुंड के आमतल्ला के पास पाकुड़ एसपी अमरजीत बलिहार के काफिले पर नक्सलियों ने एके 47, इंसास रायफल और एएसएलआर से ताबड़तोड़ गोलीबारी कर दी। इसमें एसपी अमरजीत बलिहार के अलावा 5 पुलिस कर्मियों की मौत हो गई थी। नक्सली हमले में शहीद पुलिस जवान मनोज हेम्ब्रम दुमका जिले के गुहियाजोरी गांव, राजीव कुमार शर्मा और संतोष मंडल साहेबगंज जिला, अशोक कुमार श्रीवास्तव बिहार के बक्सर जिला और चंदन थापा बिहार के कटिहार जिले का रहनेवाले थे। नक्सली हमले में एसपी समेत कुल 6 जवान शहीद हुए थे और दो एके 47 रायफल, चार इंसास रायफल के अलावा दो पिस्टल और 647 गोलियां नक्सली अपने साथ लेते गए थे।

 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *