जामताड़ा हटिया में भीषण अगलगी, लाखों का नुकसान

दर्जनों दुकानें हुईं जलकर खाक, विरोध में बंद कराया बाजार और पूर्व नपं अध्यक्ष को खदैड़ा/ घटना के पौन घंटे बाद फायर ब्रिगेड पा सका आग पर काबू /आग पर काबू पाने तक धू-धू कर जल गयी दुकानें

जामताड़ा/ संवाददाता। हटिया पट्टी में बीती देर रात करीब डेढ़ बजे भीषण अगलगी में दर्जनों दुकानें जलकर खाक हो गयीं। आग की लपटें इतनी तीव्र थीं कि आसपास के घरों में उसकी तपिश महसूस की गयी। इतना ही नहीं, आग की तपिश और उड़ती चिंगारी से घरों में कोई अनहोनी न हो, इसके लिए घरों से निकलकर लोगों को सुरक्षित जगहों पर जाना पड़ा। घटना के कोई पौन घंटे बाद करीब सवा दो बजे आग पर फायर ब्रिगेड काबू पा सका। लेकिन, तबतक लाखों का नुकसान हो चुका था। आग लगने के कारणों का अबतक खुलासा नहीं हो सका है। उधर घटना के बाद हटिया पट्टी में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। जबकि घटना से आक्रोशित दुकानदारों ने बुधवार की सुबह पूरे शहर की दुकानों को बंद करा दिया।

नुकसान के आंकलन का डीसी ने दिया निर्देश

घटना की सूचना पाकर डीसी ने पीड़ित दुकानदारों के जले हुए सामानों का आंकलन करने का निर्देश अंचलाधिकारी को दिया। ताकि मुआवजे के बतौर राशि का भुगतान हो जा सके। डीसी ने दुकानदारों को आश्वस्त किया है कि वे थाना में आवेदन दें, प्रशासन उचित कार्रवाई करेगा। वहीं एसपी डा जया रॉय ने घटना स्थल पर पहुंचकर पीड़ित दुकानदारों को संबंधित थाना में आवेदन देने का निर्देश दिया। एसपी डा रॉय ने कहा कि पुलिस अनुसंधान कर उचित कार्रवाई करेगी।

पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष पर उतारा गुस्सा

पीड़ित दुकानदारों ने अगलगी का गुस्सा पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष वीरेंद्र मंडल पर उतारा। दुख जताने पहुंचे श्री मंडल को दुकानदारों ने हूटिंग कर खदैड़ दिया। दुकानदारों का कहना है कि हटिया पट्टी में मॉल का निर्माण प्रस्तावित है। इसे लेकर पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष वीरेंद्र मंडल ने यहां सब्जी, मछली व खाद्यान्न दुकान संचालकों को राजवाड़ी के समीप रासमेला में दुकान शिफ्ट कराने के लिए कई बैठकें की थी। जबकि दुकानदार हटना नहीं चाहते थे।

अगजनी में दुकानदारों को आ रही साजिश की बू

दुकानदारों ने आशंका जतायी है कि 40 करोड़ की लागत से बनने वाले प्रस्तावित मॉल के लिए अगजनी की साजिश दुकानदारों को हटाने के लिए रची गयी थी। हालांकि प्रस्तावित मॉल का डीपीआर ही तैयार किया जा रहा था।

 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *