मवेशी लदा 12 कंटेनर व पिकअप वैन जब्त, 12 गिरफ्तार

ग्रामीणों व पुलिस को कंटेनरों से रौंद कर भागने की पशु तस्करों ने की कोशिश/ बरही से बंगल भेजा जा रहा 370 प्रतिबंधित पशु बरामद/ भागने के लिए लोगों को रौंदने की फिराक में थे तस्कर, पकड़े जाने पर ग्रामीणों ने की कुटाई

राजधनवार/ बिरनी/गिरिडीह/ संवाददाता। 11 कंटेनरों और एक पिक-अप वैन से पशु तस्करों ने बुधवार को पुलिस और ग्रामीणों को रौंद कर निकलने की कोशिश की, लेकिन वे पकड़े गये। पशु तस्करों ने बरही से करीब 250 पशुओं को 11 कंटेनरों और एक पिक अप वैन में लाद कर बंगाल के कत्लखानों की ओर जा रहे थे। इसी बीच सूचना पर उन्हें रोकने पहुंचे ग्रामीण और पुलिस जवानों पर गाड़ियां चढ़ा कर तस्करों ने भाग निकलने की कोशिश की। मगर, पुलिस व ग्रामीणों की चुस्ती से वे पकड़े गये। इन वाहनों में पशु तस्कर दो समूहों में बंटे थे। एक समूह में शामिल 8 कंटेनर और एक पिकअप वैन को पुलिस ने राजधनवार में पकड़ा। यहां पुलिस ने 12 तसकरों को गिरफ्तार किया। जबकि 250 पशु जब्त किये गये। उधर दूसरे समूह में शामिल पशु लदे 3 कंटेनर को ग्रामीणों ने बिरनी में पकड़ा। यहां हाथ आये 9 पशु तस्करों की ग्रामीणों ने जमकर कुटाई की, जिसमें तीन गंभीर रूप से घायल हो गये हैं। ग्रामीणों ने 3 कंटेनर से 120 पशुओं को बरामद किया है। जबकि पिटायी से घायल 3 पशु तस्करों का इलाज जारी है। बाकी के 6 पशु तस्कर पिटाई के बाद ग्रामीणों की कैद से भाग निकलने में कामयाब रहे।

बरामद पशुओं को रखने की जगह पड़ी कम

गिरिडीह में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में पशुओं के बरामद होने पर प्रशासन की चिंता बढ़ गयी है। दरअसल, इतनी बड़ी संख्या में पशुओं को रखने की गौशालाओं में भी जगह नहीं है। वैसे, अब सभी मवेशियों को सुरक्षित आसपास की गौशालाओं में भेजने की तैयारी की जा रही है।

कैसे पकड़ में आये पशु तस्कर

एसपी सुरेंद्र कुमार झा के निर्देश पर बगोदर व खोरीमहुआ एसडीपीओ ने रात 2 बजे से 6 बजे सुबह तक कार्रवाई की। प्रतिबंधित मवेशियों के एक बड़ा खेप धनवार व बिरनी पुलिस ने जब्त किया है। साथ ही पशु क्रूरता अधिनियम के तहत मामले में 12 लोगों मो बबलू कुरैशी, मो फानो खान, मो इरशाद कुरैशी, अकबर मियां, धर्मेंद्र पासवान, गुड्डू पासवान, श्याम सुंदर यादव, गणेश यादव आदि को हिरासत में लेकर जेल दिया है। बताया गया कि 8 कंटेनर और एक पिकअप वैन में लगभग 250 मवेशियों को भर कर बंगाल ले जाया जा रहा था। गुप्त सूचना पर गिरिडीह एसपी के निर्देश पर धनवार थाने ने एक टीम गठित कर मुख्य मार्ग पर दबिश दी। हालांकि वाहनों की जांच के क्रम में पुलिस बल को पशु तस्करों ने रौंद कर निकलने की कोशिश की। लेकिन, पुलिस ने चुस्ती से सभी वाहनों को कब्जे में लेकर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी।

बिरनी में ग्रामीण आये आगे

बिरनी में ग्रामीणों ने संदेह पर खदेड़कर 3 कंटेनर को कब्जे में लिया। हालांकि ग्रामीणों के गाड़ी रुकवाने पर वाहन चालक ने ग्रामीणों पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। इस दौरान गुस्साए ग्रामीणों ने दौड़ा पर वाहनों को रोका और वाहन में सवार 9 लोगों की धुनाई कर दी। ग्रामीणों की पिटाई से 3 लोग बुरी तरह घायल हो गये। बता दें कि जीटी रोड, बेंगाबाद रोड और धनवार रोड मवेशियों की तस्करी को लेकर काफी कुख्यात है। लगातार यूपी, बिहार से होते हुए इसी रास्ते से मवेशियों को बंगाल और बांग्लादेश भेजा जाता है। इस मामले में कई सफेदपोश भी शामिल हैं।

तस्करों पर होगी कड़ी कार्रवाई: एसडीपीओ

खोरीमहुआ एसडीपीओ राजीव कुमार ने कहा कि पशु तस्करी पर सरकार की ओर से प्रतिबंध है। किसी भी प्रकार का गैर कानूनी धंधा नहीं होने दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि मामले में 12 पशु तस्करों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *