सुरक्षाः 21 हजार रसूखदारों के आगे आम लोगों की हकमारी

देश में औसतन 700 लोगों की सुरक्षा पर एक और वीवीआईपी की सुरक्षा में 3 जवान तैनात

देश में औरतों की इज्जत और आमलोगों की जान की कीमत देश के 21 हजार रसूखदारों की सुरक्षा के आगे कुछ भी नहीं है। क्योंकि ताजा आंकड़ों के अनुसार देश के करीब 21 हजार वीआईपी लोगों की सुरक्षा में हर एक वीआईपी के लिए 3 पुलिसकर्मी तैनात हैं। जबकि आम लोगों के लिये तैनात पुलिसकर्मियों की संख्या बेहद कम है। ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट के आंकडों पर गौर करें तो पूरे देश में 19.26 लाख पुलिसकर्मी हैं। इनमें से 56,944 पुलिसकर्मियों को 29 राज्यों और 6 केंद्र शासित प्रदेशों के 20,828 वीआईपी लोगों की सुरक्षा में ही लगाया गया है।

ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट के आंकडों की मानें तो देश में एक वीआईपी की सुरक्षा में 2.73 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। जबकि आम आदमी की बात करें तो करीब 700 लोगों पर एक पुलिसकर्मी हैं। लक्षद्वीप ही अकेला ऐसा राज्य है जहां किसी को पुलिस सुरक्षा नहीं दी गयी है। इन आंकड़ों के मुताबिक उत्तर और पूर्वी भारत में वीआईपी कल्चर सबसे अधिक है।

जिस बिहार में दो पूर्व मुख्यमंत्री के समर्थक जेड श्रेणी की सुरक्षा से संतुष्ट नहीं हैं, उस बिहार में प्रति नागरिक पुलिसकर्मियों की संख्या बहुत कम है। जबकि बिहार के 3200 वीआईपी की सुरक्षा में 6248 पुलिसकर्मी तैनात हैं। इसके बाद पश्चिम बंगाल में 2207 वीआईपी लोगों की सुरक्षा 4233 पुलिसकर्मी कर रहे हैं। बंगाल के बाद जम्मू कश्मीर में 2075 वीआईपी लोगों को 4499 पुलिसकर्मी सुरक्षा दे रहे हैं। उत्तर प्रदेश में में 1901 वीआईपी लोगों की सुरक्षा में 4681 पुलिसकर्मियों को लगाया गया है। पंजाब में 1852 वीआईपी लोगों को 5315 पुलिसकर्मी सुरक्षा दे रहे हैं।

दिल्ली में वीआईपी लोगों की सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मियों की संख्या बहुत ज्यादा है। यहां 489 वीआईपी लोगों को 7420 पुलिसकर्मियों से सुरक्षा मिल रही है। हालांकि देश के दक्षिणी राज्यों में वीआईपी लोगों की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों की संख्या कम है। केरल में 57 वीआईपी लोगों की सुरक्षा में 214 पुलिसकर्मी तैनात हैं। जबकि महाराष्ट्र में केवल 74 वीआईपी लोगों की सुरक्षा में 961 पुलिसकर्मी तैनात किये गये हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *