अमेरिकी संसद से राष्ट्रपति ट्रंप को डबल झटका

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को अमेरिकी संसद से गुरुवार को दोहरा झटका लगा है। संसद के निचले सदन यानी हाउस ऑफ कॉमन्स के स्पीकर पद के लिए हुए चुनाव में ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी के प्रत्याशी केविन मैकार्थी को पराजय मिली है। जबकि इस पद पर डेमोक्रेटिक पार्टी की संसद नैंसी पेलोसी चुनी गयी हैं। इस पद पर नैंसी पहले भी रह चुकी हैं। खबरों के अनुसार नैंसी के स्पीकर बनने पर अब संभावना यह भी जताई जा रही है कि निचला सदन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अब तक के कामों पर जांच बैठा दे।

राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही भी शुरू किये जाने की आशंका है। फिलहाल, निचले सदन में डेमोक्रेटिक पार्टी के सदस्यों का बहुमत है। लिहाजा, इस तरह की आशंकाएं प्रबल हो गयीं हैं। हालांकि निचले सदन ने राष्ट्रपति ट्रंप को झटका देना तो शुरू कर दिया है। बताते हैं कि स्पीकर के चुनाव के ठीक बाद सदन में एक अहम प्रस्ताव पारित किया गया है। इस प्रस्ताव में अमेरिका-मैक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के लिए ट्रंप प्रशासन की ओर से की जा रही राशि की मांग को खारिज कर दिया गया है। आंशिक कामबंदी भी हटायी गयी है। गौरतलब है कि 22 दिसंबर से लगभग चार लाख कर्मचारी छुट्टी पर रहने को मज़बूर हैं। क्योंकि इनके विभागों के पास इन्हें वेतन देने के लिए पैसे नहीं थे।

कुछ जरूरी सेवाओं से जुड़े विभागों में कर्मचारी काम कर भी रहे हैं तो बगैर वेतन के ही। यह हालात मैक्सिको सीमा पर दीवार के मसले पर ट्रंप प्रशासन और निचले सदन में टकराव की स्थिति के कारण बनी है। निचले सदन से प्रस्ताव पारित किए जाने के बाद अब कामबंदी खत्म होने के आसार हैं। बशर्ते इसे सीनेट का समर्थन मिले। हालांकि राष्ट्रपति ट्रंप के पास दोनों सदनों से पारित प्रस्ताव पर वीटो (विषेधाधिकार) का भी हक है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *