एनडीए सरकार ने सस्ते में खरीदा रफाल विमान: कैग

यूपीए के मुकाबले में करीब 3 फीसद कम में हुआ सौदा

रफाल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर जारी विवाद के बीच कैग यानी नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक की रिपोर्ट बुधवार को संसद में पेश की गयी। राज्य सभा के पटल पर रखी गई रिपोर्ट के मुताबिक पूर्ववर्ती यूपीए सरकार के समय जिस कीमत पर रफाल विमानों का सौदा हुआ था, उससे 2.8 प्रतिशत कम कीमत पर मौजूदा एनडीए सरकार रफाल विमान खरीद रही है। रफाल विमानों की आधारभूत कीमत तो लगभग वही है जो यूपीए सरकार के समय तय हुई थी। लेकिन भारत की जरूरतों के हिसाब से तकनीकी और सामरिक बदलावों के बाद ये विमान नये सौदे के तहत तुलनात्मक रूप से सस्ते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक रफाल सौदे से देश का 17.08 फीसदी (पूरी खरीद में) पैसा बचा है।

मालूम हो कि यूपीए सरकार के समय 126 रफाल विमानों का सौदा हुआ था। लेकिन एनडीए सरकार ने संशोधित सौदा 36 विमानों का किया है। लेकिन, इसके साथ यह भी जोड़ा गया कि सभी विमान फ्रांस से ही भारतीय जरूरतों के हिसाब से पूरी तरह तैयार होकर आएंगे। इन विमानों में 13 तरह का विशिष्ट परिवर्तन भारत ने कराया है। खबरों के अनुसार यह रिपोर्ट भी पूरी तरह विवादमुक्त नहीं है, क्योंकि इसमें मूल्य निर्धारण से जुड़े कुछ विवादित बिंदुओं को शामिल ही नहीं किया गया है। क्योंकि रक्षा मंत्रालय ने गोपनीयता का हवाला देते हुए विवादित बिंदुओं के बारे में कैग को कोई जानकारी नहीं दी थी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *