एसपी की हत्या करने वाला नक्सली मुठभेड़ में ढेर

मारे गये नक्सली सहदेव राय उर्फ ताला दा पर था 10 लाख का इनाम/ एसपी अमरजीत बलिहार की हत्या मामले में फांसी की सजा पाये प्रवीर दा उर्फ ताला दा और मुठभेड़ में ढेर ताला दा में कौन है असली, पर उठा सवाल

दुमका। शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत छातुपाड़ा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में नक्सली सहदेव राय उर्फ ताला दा के मारे जाने की खबर है। पाकुड़ एसपी अमरजीत बालिहार को ताला दा ने ही मारी थी गोली। 10 लाख का इनामी नक्सली ताला दा प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी का एक मजबूत लड़ाका माना जाता है। खबर है कि उसके पास से पुलिस ने एक इंसास और एके 47 बरामद की है। फिलहाल मुठभेड़ के बाद अलग-अलग दिशाओं में भागे दर्जन भर नक्सलियों की तलाश में पुलिस अभी भी जुटी है। आॅपरेशन में पुलिस की अलग-अलग टीमें लगी है। इस आॅपरेशन में भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद है। एसपी वाईएस रमेश घटना स्थल पर मौजूद थे। जबकि डीआईजी राज कुमार लकड़ा घटनास्थल की ओर रवाना हो गये हैं।

एसपी का असली कातिल कौन

पाकुड़ एसपी अमरजीत बलिहार की हत्या ताला दा ने की थी। लेकिन नक्सली संगठन में दो ताला दा हैं। ऐसे में एक ताला दा यानी प्रवीर दा एसपी की हत्या का दोषी करार दिया जा चुका है। उसे फांसी की सजा मिली है। जबकि दूसरा ताला या यानी सहदेव राय रविवार को मुठभेड़ में मारा गया है। ऐसे में असली ताला दा के सवाल पर फिर से तरह-तरह की चर्चा है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *