कोयला डिपो पर छापेमारी को गयी पुलिस पर हमला

जरमुंडी एसडीपीओ, सब इंस्पेक्टर सहित 3 पुलिसकर्मी घायल/ रामगढ़ प्रखंड की डांडो पंचायत के केंदुवा गांव में हुई घटना/ भीड़ ने एसडीपीओ की गाड़ी व पुलिस की बाइक भी तोड़ी

दुमका/निज संवाददाता। जिले के रामगढ़ प्रखंड की डांडो पंचायत के केंदुवा गांव में अवैध कोयला डिपो पर छापेमारी करने गई पुलिस टीम पर कोयला माफियाओं के किए गए पथराव में जरमुंडी एसडीपीओ अनिमेष नाथानी, उनका बॉडीगार्ड और एक सब इंस्पेक्टर घायल हो गये। एसडीपीओ के बॉडीगार्ड का हाथ टूट गया है। इस पथराव में एसडीपीओ के बोलेरो व पुलिस की बाइक को भी क्षतिग्रस्त हो गया है। घायलों को इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा गया है। एसपी वाईएस रमेश ने बताया है कि कोयला डिपो की छापेमारी में गई पुलिस टीम पर पथराव किया गया है। इस घटना में एसडीपीओ सहित 3-4 पुलिस कर्मी घायल हो गये हैं। पुलिस ने पथराव में शामिल लोगों की पहचान करना शुरू कर दी है। पुलिस पर पथराव व सरकारी कार्य में बाधा डालने वालों पर मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

जब्त कोयला लाने के दौरान हुआ पथराव

पुलिस गुप्त सूचना पर डांडो गांव कोयला तस्करी पर रोक लगाने पहुंची थी। सूचना थी कि इस क्षेत्र में कोयला माफिया अवैध तरीके से कोयला डंप कर उसका कारोबार कर रहे हैं। पुलिस टीम में जरमुंडी एसडीपीओ अनिमेष नैथानी, रामगढ़ थाना प्रभारी राजीव रंजन, सब इंस्पेक्टर हरेश्वर सिंह व अन्य पुलिस कर्मी शामिल थे। केंदुवा गांव पहुंच कर टीम ने भारी मात्रा में कोयला जब्त किया। जब्त कोयले को ट्रैक्टर में लाद कर रामगढ़ लाया जा रहा था, तभी केंदुवा गांव के पास महिलाओं ने पुलिस टीम पर पथराव कर दिया। पथराव झाड़ियों में छिप कर किया जा रहा था। महिलाओं ने एसडीपीओ के वाहन के शीशे को तोड़ दिया है। पुलिस की एक बाइक भी तोड़ दी गयी।

जान बचाकर रामगढ़ के लिए निकली पुलिस टीम

घटना के बाद पुलिस वाहनों को छोड़ कर किसी तरह अपनी जान बचाकर रामगढ़ पहुंची। बताया जा रहा है कि पुलिस टीम को दिन में ही छापेमारी के लिए गांव जाना था, लेकिन गांव पहुंचते-पहुंचते शाम हो गयी। अंधेरे का फायदा उठाते हुए कोयला माफियाओं ने महिलाओं को पथराव के लिए आगे कर दिया। महिलाओं ने झाड़ियों में छिपकर कर पुलिस पर जमकर पत्थरबाजी की है। यहां बता दें कि पाकुड़ जिले के अमड़ापाड़ा थाना क्षेत्र के बंद पड़े पचूवाड़ा कोल ब्लॉक से कोयले की चोरी की जाती है। कोयले को गोपीकांदर के सीमा क्षेत्र शीलंगी, कोल्हा होते हुए रामगढ़ प्रखंड के डांडो और केंदुवा में डंप कर ट्रकों से बाहर भेजा जाता है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *