खूंटी में सामूहिक दुष्कर्म सुनियोजित घटना : एडीजी

खूंटी, 23 जून :  खूंटी जिला के अड़की थाना अंतगर्त सामूहिक बलात्कार को एडीजी आर के मल्लिक ने सुनियोजित घटना करार दिया है. पुलिस ने पूरे मामले में अभी तक कुल दो दोषियों को गिरफ्तार किया हैं. वहीं घटना में शामिल चार अन्य की भी पहचान कर ली गयी है. साथ ही आर सी मिशन स्कूल कोचांग के फादर अलफांसो समड द्वारा नुक्कड़ नाटक करने वाली दल के दोनों ननों को बचाने व अऩ्य पीड़िता को अपराधकर्मियों के साथ जाने देने का बढ़ावा देने के आरोप में गिरफ्तार किया है.एडीजी आर के मल्लिक के मुताबिक पूरी घटना को लेकर कुल दो कांड दर्ज किये गये हैं. इसमें अड़की थाने में शिकायतकर्ता संजय शर्मा के बयान पर आरसी मिशन स्कूल, कोचांग के फादर अलफोंस को गिरफ्तार किया गया है. दूसरी घटना महिला थाना में दर्ज की गयी है. यह पीड़िता के बयान पर दर्ज किया गया. यह मुख्य रूप से बलात्कार की घटना से जुड़ी है. इसमें कुल छह अभियुक्तों को दोषी ठहराया गया है. इसमें खूंटी एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने जांच के बाद दो दोषियों को गिरफ्तार किया है. इसमें इसमें पहले अभियुक्त लड़ाउड़ी ग्राम का रहने वाला है, जिसका नाम अजूब सांडी पूर्ति है. तथा दूसरा अभियुक्त आशीष लोंगो है, जो बूरुंगूखेल का रहने वाला है. पूरी जांच के बाद पुलिस अन्य चारों अपराधियों के नाम का खुलासा करेगी, ताकि अनुसंधान में कोई परेशानी नहीं आये. खूंटी एसपी के मुताबिक अभी तक पूरी घटना में कुल छह दोषियों के शामिल होने की पुष्टि हुई है.  सभी की पहचान पुलिस ने कर ली है. इसमें से अबतक कुल दो अभियुक्तों की गिरफ्तारी भी की गयी है. आर के मल्लिक के मुताबिक पूरे घटना को कहीं न कहीं पत्थलगड़ी समर्थकों द्वारा अंजाम दिया गया है. उन्होंने कहा कि नुक्कड़ नाटक दल से जुड़े लोगों द्वारा जब एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग के बारे जब प्रचार किया जा रहा था. उस समय पत्थलगड़ी समर्थकों में से एक जॉन जोनास टिड़ू ने भी दोषियों को उक्त अपराध करने के लिए उकसाया था. टिडू ने कहा था कि नुक्कड़ नाटक से जुड़े सभी लोग पत्थलगढ़ी के खिलाफ प्रचार करते है. ऐसे में इन्हें सबक सिखाना होगा.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *