गठबंधन सरकार में बढ़ता है भ्रष्टाचार: रघुवर

झामुमो, कांग्रेस, राजद, झाविमो नेताओं ने किया 4 हजार करोड़ का घोटाला / राज्य में सुशासन, पारदर्शी शासन, विकास व गरीबों के चेहरे पर मुस्कान प्राथमिकता / जामा के मधुबन गांव में कृषि समागम कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने किसानों को किया संबोधित

दुमका/संवाददाता। दुमका जिले के जामा प्रखंड स्थित मधुबन गांव में प्रमंडल स्तरीय कृषि समागम में शनिवार को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि सरकार ने संताल परगना को सूूखाड़ क्षेत्र घोषित किया है। सरकार सूखाड़ ग्रस्त किसानों को बतौर राहत 816 करोड़ रुपए दे रही है। वर्ष 2013-14 में किसानों का विकास दर 4.5 प्रतिशत था, लेकिन उनके कार्यकाल में वर्ष 2018 में विकास दर 14.29 प्रतिशत हो गया है। यह रिपोर्ट नीति आयोग की है। किसानों का यह विकास राज्य में स्थिर सरकार से संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि गठबंधन सरकार में भ्रष्टाचार बढ़ता है, स्थिर सरकार में नहीं। झारखंड में ज्यादातर समय राज करने वाले झामुमो, कांग्रेस, राजद, झाविमो के नेताओं ने 4 हजार करोड़ रुपए का घोटाला किया है। यही वजह है कि राज्य किसी भी क्षेत्र में विकास नहीं कर पाया है।

आदिवासी करें विरोधी दलों से सवाल

मुख्यमंत्री ने कहा कि संताल परगना के आदिवासियों को झारखंड में 14 सालों तक राज करने वाले नेताओं से सवाल करना चाहिए कि अभी तक उनलोगों ने राज्य में क्या किया है। आदिवासी और गरीब के नाम पर भाजपा गंदी राजनीति नहीं करती है। वे झारखंड को बदलने के लिए आए हुए हैं। उन्होंने कहा कि 14 वर्ष पूर्व देश-विदेशों में झारखंड का नाम बोलने से सिर झुक जाता था, लेकिन अभी गर्व के साथ कह सकते हैं कि आप झारखंड के रहने वाले हैं।

सूबे में 2020 तक कोई बेघर नहीं रहेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2020 तक झारखंड में कोई बेघर नहीं रहेगा। सभी गरीबों को प्रधानमंत्री आवास अवश्य दिया जायेगा। 2019 तक पूरे झारखंड में 24 घंटे बिजली व्यवस्था सुनिश्चित करने का प्रयास जारी है, ताकि उनके घरों में भी रोशनी हो। उनके बच्चे पढ़ाई करें। राज्य के छ: जिलों में शत प्रतिशत बिजली पहुंच चुकी है। शीघ्र ही अन्य जिलों में भी यह हो जायेगा। पूरे राज्य में दो साल के अंदर सभी जाहेर थान व अन्य पूजा स्थलों की चाहरदीवारी बना दी जायेगी। मधुबन गांव की नदी से लिफ्ट इरिगेशन की संभावना पर प्रतिवेदन मांगा गया है। एक सप्ताह के अंदर चापकल का अधिष्ठापन कराने के लिए कहा गया है। कृषि समागम कार्यक्रम को समाज कल्याण मंत्री डॉ लुईस मरांडी, कृषि मंत्री रणधीर सिंह और कृषि सचिव पूजा सिंघल ने भी संबोधित किया।

सवा 2 अरब की योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन

सीएम रघुवर दास ने 2 अरब 21 करोड़ रुपए की योजनाओं का ऑनलाईन शिलान्यास और उद्घाटन किया। इन योजनाओं में अधिकांश योजना किसानों से संबंधित हैं। सीएम ने ‘जल है जहान’ के दूसरे वर्जन को कृषि समागम के मंच से लांच किया। ‘जल है जहान’ के तहत जिले में 20 फुट व्यास वाले 2500 कुआं का निर्माण मार्च 2019 तक किया जाना है। ये कुंए उन किसानों के लिए बनाये जाएंगे जो बड़े पैमाने पर सब्जी की खेती करते हैं या ऐसा करना चाहते हैं। इसके अलावा सीएम ने आंगनबाड़ी में बच्चों को पढ़ाए जाने वाले किताब नन्हंे कदम, बढ़ते कदम का भी विमोचन किया। इस किताब में आंगनबाड़ी में बच्चों को पढ़ाए जाने वाली सभी प्रकार की जानकारी है।

बिजली कनेक्शन में रिश्वत लेने वाले होंगे बर्खास्त

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिकायत मिली है कि बिजली कनेक्शन के लिए लोगों को 50 रुपये रिश्वत देनी पड़ती है। डीसी इसकी जांच करें। भ्रष्टाचार किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं। सीएम ने आम लोगों से कहा कि यदि कोई गरीब की योजना में रिश्वत मांगे तो वे 181 पर फोन करें। 24 घंटे के अंदर उनके विरूद्ध कार्रवाई की जायेगी। ऐसे दोषी लोगों को सीधे बर्खास्त किया जाएगा। पीडीएस की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए उन्होंने कहा कि राशन डीलर सचेत हो जायें। पकड़े जाने पर उन्हें जेल भी जाना होगा और दुकान भी जायेगी। हर गरीब तक अन्न पहुंचाने के वे माध्यम हंै, इसलिए अपने दायित्वों को निभायें।

25 महिलाओं सहित 100 किसान जाएंगे इजरायल

कृषि तकनीक को बढ़ाने के लिए किसानों को इजराईल भेजा गया था, जहां से वे कृषि की उन्नत तकनीक सीख कर आये हैं। उन्होंने कहा कि ये किसान अपने गांवों में छोटी-छोटी बैठक कर अन्य किसानों को तकनीक बतायें। शीघ्र ही अन्य 100 किसानों को भी इजरायल भेजा जायेगा। जिसमें से 50 कृषक संथाल परगना के होंगे और इनमें भी 25 महिलायें होंगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *