गिरिडीह में 72 लाख रुपये की अवैध शराब जब्त 

गिरिडीह में 72 लाख रुपये की अवैध शराब जब्त -उत्पाद अधीक्षक व एसडीपीओ ने की गंगापुर में छापेमारी-1600 पेटी अवैध शराब के साथ एक पिकअप वैन बरामद, कारोबारी फरार

गिरिडीह / संवाददाता। उत्पाद विभाग व गिरिडीह पुलिस ने अवैध शराब धंधेबाजों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए एक बड़ी सफलता हासिल की है। गुप्त सूचना पर उत्पाद विभाग व पुलिस ने मुफस्सिल थाना क्षेत्र के गंगापुर स्थित एक बड़ी चहारदीवारी के अंदर बने गोदाम में छापेमारी की। यहां से 1600 पेटी अंग्रेजी अवैध शराब बरामद की गयी। पुलिस ने उक्त स्थल से एक पिकअप वैन भी बरामद की है। उक्त वैन पर अवैध शराब लादकर बाहर भेजने की तैयारी की जा रही थी। उत्पाद विभाग व पुलिस की मानंे तो जब्त शराब की बाजार में कीमत लगभग 72 लाख रुपये है।

गुप्त सूचना पर हुई कार्रवाई

बताया जाता है कि उत्पाद विभाग को गुप्त सूचना मिली थी कि गंगापुर के एक बड़ी चहारदीवारी के अंदर बने कमरे में भारी मात्रा में अवैध अंग्रेजी शराब रखी हुई है, जिसे नये साल के अवसर पर बिहार व बंगाल भेजने की तैयारी की जा रही है। इसी सूचना पर उत्पाद अधीक्षक अवधेश कुमार सिंह व एसडीपीओ जीतवाहन उरांव के नेतृत्व में शुक्रवार की सुबह छापेमारी की गई। जैसे ही पुलिस व उत्पाद विभाग की टीम वहां पहुंची, वहां मौजूद ड्राइवर व शराब के धंधेबाज दीवार फांदकर भागने में सफल रहे। पुलिस बरामद शराब को जब्त कर ले गयी है। बताया जाता है कि अंग्रेजी अवैध शराब पर आंध्र प्रदेश का टैग लगा हुआ है। इस बाबत एसडीपीओ जीतवाहन उरांव ने कहा कि जिस बड़े पैमाने पर अंग्रेजी शराब बरामद की गयी है, उसमें निश्चित तौर पर एक बड़ा गिरोह सक्रिय प्रतीत होता है।

विभाग जारी रखेगा धंधेबाजों के खिलाफ अभियान

उन्होंने कहा कि पुलिस इस धंधे में शामिल लोगों की तहकीकात कर उनके विरुद्घ कार्रवाई करेगी। उत्पाद अधीक्षक अवधेष कुमार सिंह ने कहा कि अवैध शराब व्यवसायियों के खिलाफ यह अभियान आगे भी जारी रहेगा। बताया जाता है कि जिस चहारदीवारी के अंदर बने कमरे में अवैध शराब रखी हुई थी, वह किसी डब्बू बगेड़िया का है। जबकि इस बाबत डब्बू बगेड़िया से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि चार साल पहले ही उन्होंने उसे लक्खीसराय के रहने वाले विनोद कुमार साहू नामक व्यक्ति को बेच दिया था। वहीं चर्चा यह भी कि विनोद कुमार साहू ने उक्त प्लॉट को धनबाद के एक शख्स को दे रखा है। बहरहाल प्लॉट किसका है और वह शराब किन लोगों का है, यह जांच करने में पुलिस लग गई है। छापेमारी दल में उत्पाद निरीक्षक त्रिपुरारी कुमार समेत उत्पाद विभाग के कई सिपाही व पुलिस के जवान मौजूद थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *