दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ रही मुस्लिम आबादी

पीयू रिसर्चः वर्ष 2050 तक सबसे बड़ी मुस्लिम आबादी वाला देश होगा भारत

अमेरिका के थिंक टैंक और प्रतिष्ठित शोध संस्थान पीयू रिचर्स सेंटर के अनुसार दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाला धार्मिक समूह मुस्लिम हैं। इस समूह की आबादी तेजी से बढ़ रही है। रिसर्च के अनुसार भारत के हाथ भी एक रिकाॅर्ड आयेगा। भारत वर्ष 2050 तक सबसे अधिक मुस्लिम आबादी वाला देश बन जायेगा। अभी सबसे अधिक मुस्लिम आबादी इंडोनेशिया में है। लेकिन पीयू शोध के मुताबिक दुनिया के 11 फीसदी मुसलमान भारत में होंगे। वर्ष 2050 तक मुसलमानों की आबादी 32 करोड़ हो सकती है। जबकि भारत में हिंदुओं की आबादी बढ़ कर 1.3 अरब होने का अनुमान है।

पीयू रिसर्च की मानें तो भारत में मुसलमान महिलाओं के औसतन 3.2 बच्चे हैं। जबकि हिंदू महिलाओं में यह औसत 2.5 बच्चों का है। वहीं ईसाइयों में प्रति महिला 2.3 बच्चों का औसत है। देश में बढ़ती आबादी के लिये युवाओं की माध्यमिक आयु और उच्च जन्म दर को कारण बताया गया है। मुसलमानों के लिए माध्यमिक आयु 22 वर्ष है जो हिंदुओं के लिए 26 साल और ईसाइयों के लिए 28 साल है।

पूरी दुनिया के साथ भारत की मुस्लिम आबादी में तेजी से बढ़ोत्तरी हुई है। वर्ष 2010 में कुल जनसंख्या में 14.4 फीसदी हिस्सेदारी मुस्लिमों की थी, जो वर्ष 2050 तक बढ़कर 18.4 फीसदी तक पहुंच जायेगी। हालांकि रिसर्च में ये भी बताया गया है कि इतना होने के बाद भी हर चार में तीन व्यक्ति हिंदू ही होंगे। शोध रिपोर्ट बताती है कि वर्ष 2050 तक भारत में ईसाइयों की आबादी घट सकती है। फिलहाल भारत में ईसाई आबादी 2.5 फीसदी है, जो वर्ष 2050 तक घटकर 2.3 फीसदी तक हो सकती है।

पीयू रिसर्च सेंटर ने स्पष्ट किया है कि मुसलमान दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाला धार्मिक समूह है। रिसर्च के अनुसार मुस्लिम आबादी पूरी दुनिया की कुल आबादी की तुलना में अधिक तेजी से बढ़ेगी। वर्ष 2050 तक भारत की कुल हिंदू आबादी तुलनात्मक रूप से भारत, पाकिस्तान, इंडोनेशिया, नाइजीरिया और बांग्लादेश की कुल मुस्लिम आबादी से भी अधिक रहेगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *