देवबंद के मुफ्ती का बड़ा बयान, सार्वजनिक स्थल पर नमाज गलत

देवबंद के मुफ्ती अहमद गौड़ ने सार्वजनिक स्थल या सरकारी जमीन पर नमाज अदा करने के बाबत बड़ा बयान दिया है। उनका बयान उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर स्थित नोएडा अथॉरिटी के पार्क में नमाज अदा करने पर लगाई गई रोक के बारे में सामने आया है। देवबंद के मुफ्ती ने कहा है कि सरकारी जमीन पर नमाज पढ़ना गलत है। इस मामले में अपनी बात रखते हुए मुफ्ती अहमद गौड़ ने कहा कि नमाजियों को यह बात ध्यान में रखनी चाहिए कि पार्क, सार्वजनिक स्थल, सरकारी जमीन आदि जगहों पर नमाज पढ़ने से अगर कोई विवाद पैदा होता है तो वहां नमाज नहीं पढ़ना चाहिए।

देवबंद के मुफ्ती अहमद गौड़ ने कहा कि नमाजियों को वहां की सरकारी अमले या जमीन के मालिक से इजाजत लेकर ही नमाज अदा करनी चाहिए। मुफ्ती के अनुसार नमाज पढ़ने से यदि विवाद पैदा होता है या किसी को आपत्ति होती है तो ऐसी जगह नमाज नहीं पढ़नी चाहिए। क्योंकि, शरीयत ऐसी जगह पर नमाज पढ़ने की इजाजत नहीं देती। उन्होंने कहा कि नमाज पढ़ना फर्ज है और जरूरी है, लेकिन किसी भी स्थान पर जबरदस्ती नमाज पढ़ना बिल्कुल भी ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि जब तक वहां के लोगों की आपसी सहमति न हो, नमाज नहीं पढ़नी चाहिए।

देवबंद के मुफ्ती ने यह भी कहा है कि किसी कंपनी में काम करने वाले नमाजी को उस कंपनी को नमाज अदा करने की जगह मुहैया करानी चाहिए। अगर नमाजी अधिक हैं तो भी ऐसी जगह चिह्नित कराई जानी चाहिए जहां सभी सुकून के साथ नमाज अदा कर सकें। उल्लेखनीय है कि गौतम बुद्ध नगर जिला पुलिस ने इस संबंध में प्रतिबंध का पालन कराने के लिए 26 कंपनियों को नोटिस भी जारी किया था।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *