पाकिस्तान में चीनी मुद्रा के प्रचलन का प्रस्ताव खारिज

चीन की मांग पूरी नहीं करने के पीछे पाकिस्तान ने रखा आर्थिक संप्रभुता का सवाल

पाकिस्तान में चीनी मुद्रा युआन के प्रचलन की चीन की मांग को पाकिस्तान ने खारिज कर दिया है। चीन ने पाक के ग्वादर क्षेत्र में बनने वाले विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईजेड) में चीनी मुद्रा युआन चलाने की पाकिस्तान से मांग की थी। मालूम हो कि ये एसईजेड चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपेक) का हिस्सा है। इधर चीन के प्र्रस्ताव को खारिज करने के पीछे पाकिस्तान ने आर्थिक संप्र्रभुता का प्रश्न खड़ा किया। चीन से पाक ने कहा है कि पाकिस्तानी क्षेत्रों में चीनी मुद्रा का बेरोकटोक चलन उसकी आर्थिक संप्रभुता के साथ समझौता करने सरीखा होगा।

इधर, चीन के प्रस्ताव के आगे पाक की सख्ती की पाकिस्तानी मीडिया ने तारीफ की है। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि सीपेक से संबंधित शीर्ष संस्था संयुक्त सहयोग समिति (जेसीसी) की बैठक से पहले पाकिस्तान और चीन के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक हुई, जिसमें पाकिस्तान ने इस मुद्दे पर अपना रुख साफ कर दिया है। एक वरिष्ठ पाकिस्तानी अधिकारी के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन अपनी मुद्रा रेन्मिन्बी (युआन का आधिकारिक नाम) को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा बनाने की नीति के तहत चाहता था कि पाकिस्तान के कुछ विशेष हिस्सों में इसका प्रचलन हो।

माना जा रहा है कि चीन भविष्य के जोखिम को देखते हुए पाकिस्तानी रुपया या अमेरिकी डॉलर में अपनी मुद्रा नहीं रखना चाहता। उधर इस बात का भी कयास लगाया जा रहा है कि भारत पर चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे में बाधा पहुंचाने के पाक के आरोप को चीन द्वारा नहीं मानने की प्रतिक्रिया में पाकिस्तान ने चीन की मांग को सिरे से खारिज की है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *