राहुल गांधी के हरेक काम में दखल के कारण छोड़ा था मंत्री पद: एसएम कृष्णा

तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की जानकारी के बगैर भी कई फैसले लिये जाने का लगाया आरोप

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर कर्नाटक के पूर्व सीएम और यूपीए सरकार में विदेश मंत्री रहे एसएम कृष्णा ने बड़ा खुलासा किया है। भाजपा में शामिल हो चुके एसएम कृष्णा ने चौंकाने वाले खुलासे में कहा कि काम में राहुल गांधी के निरंतर हस्तक्षेप को देखते हुए उन्होंने अपना मंत्री पद छोड़ा था। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के दखल के कारण ही उन्हें मंत्री पद और कांग्रेस से अलग होना पड़ा। पार्टी से अलग होने के लिए भी उन्हें मजबूर किया गया। राहुल गांधी के बार-बार हस्तक्षेप के कारण काम करना मुश्किल हो रहा था।

एसएम कृष्णा ने कहा कि काम में बेवजह हस्तक्षेप का उन्होंने कई बार विरोध भी किया। वर्ष 2017 में पार्टी छोड़ने की उन्होंने बात कही। राहुल गांधी के दखल की वजह से वो अपनी जिम्मेदारियों को पूरा नहीं कर पा रहे थे, सो, आखिरकार मंत्री पद और फिर पार्टी छोड़ने की बात कही। कृष्णा ने कहा कि 10 साल पहले राहुल गांधी केवल एक सांसद थे और पार्टी में किसी पद पर नहीं थे, लेकिन वो सरकार के काम में हस्तक्षेप कर रहे थे।

एक बड़े खुलासे में उन्होंने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह की जानकारी के बगैर कई फैसले लिए जाते थे। गठबंधन के घटक दलों पर कोई नियंत्रण नहीं था। इसी दौर में 2 जी स्पेक्ट्रम, कॉमनवेल्थ और कोयला घोटाला उजागर हुआ था। एसएम कृष्णा ने कहा कि वर्ष 2009 से 2014 के बीच यूपीए सरकार के प्रधानमंत्री का अपने मंत्रियों और सरकार पर कोई नियंत्रण नहीं होकर सबकुछ राहुल गांधी के नियंत्रण में था। एक अतिरिक्त संवैधानिक संस्था की तरह राहुल गांधी काम कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के 80 साल से अधिक उम्र के लोगों का सरकार का हिस्सा नहीं रहने के आदेश के बाद बाद उन्हें मंत्रीपद छोड़ना पड़ा था। मालूम हो कि भाजपा में शामिल होने के बाद एसएम कृष्णा सक्रिय राजनीति से अलग थे, लेकिन अब वे एक बार फिर से लोकसभा चुनाव से पहले सक्रिय हो गए हैं। माना जाता है कि कर्नाटक की राजनीति में एसएम कृष्णा अहम रोल निभा सकते हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *