लोकसभा के साथ नहीं होगा झारखंड विधानसभा का चुनाव

राजनीतिक दलों के साथ बैठक में बोले मुख्य निर्वाचन आयुक्त / फिलहाल लोकसभा चुनाव की तैयारी कर रहा चुनाव आयोग / अधिकतर दलों ने लोकसभा चुनाव दो या तीन चरण में कराने का सुझाव आयोग को दिया /  अचानक बूथ बदल देने से मतदाताओं को होती है परेशानी : भाजपा

रांची। झारखंड में एक साथ लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव नहीं होगा। बुधवार को झारखंड की राजधानी रांची में राजनीतिक दलों के साथ बैठक में एक दल द्वारा इसे लेकर चर्चा होने के सवाल पर मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने इसकी संभावना से इंकार किया। सीइसी सुनील अरोड़ा ने कहा कि चुनाव आयोग फिलहाल लोकसभा चुनाव की तैयारी कर रहा है। वहीं अधिकतर दलों ने लोकसभा चुनाव दो या तीन चरण में कराने का सुझाव आयोग को दिया मगर सिर्फ राजद ने एक चरण में चुनाव कराने की मांग की।

तीन साल से अधिक एक ही स्थान पर जमे अफसरों के ट्रांसफर की मांग

कांग्रेस ने भारत निर्वाचन आयोग से तीन साल से अधिक एक ही स्थान पर जमे अफसरों के ट्रांसफर की मांग की है। बुधवार को आयोग की टीम से मुलाकात के क्रम में पार्टी प्रतिनिधियों ने यह मांग उठाई। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा की अगुआई में यह टीम लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा कर रही है। राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से मुलाकात के क्रम में भाजपा के प्रतिनिधि के रूप में विधायक सह पार्टी के मुख्य सचेतक राधा कृष्ण किशोर ने आयोग को पुराने मतदान केंद्रों को नहीं बदलने का सुझाव देते हुए कहा कि अचानक बूथ बदल देने से मतदाताओं को परेशानी होती है।

झारखंड का माहौल पहले के मुकाबले अब ज्यादा सुरक्षित

राधा कृष्ण किशोर ने आयोग की टीम से कहा कि भारतीय जनता पार्टी लोकसभा चुनाव के लिए तैयार है। उन्होंने बताया कि झारखंड सरकार के प्रयास से नक्सल की समस्या पर काफी नियंत्रण पाया जा चुका है। राज्य में हाल में हुए उपचुनावों में कोई नक्सली गतिविधि नहीं हुई है। झारखंड का माहौल पहले के मुकाबले अब ज्यादा सुरक्षित है।

चुनाव आयोग ने की राजनीतिक दलों के साथ बैठक

गौरतलब है कि आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर चुनाव आयोग की उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल मंगलवार देर शाम झारखंड पहुंची थी। बैठक में चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों के साथ बैठक की है। इसके बाद सभी जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त, पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक हुई। चुनाव आयोग आयकर, उत्पाद, वाणिज्य कर, परिवहन, रेलवे के अधिकारी और अन्य नोडल पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।
चुनाव आयोग मुख्य सचिव तथा पुलिस महानिदेशक के साथ भी अलग से बैठक करेंगे।

बैठक में निर्वाचन आयोग से मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोरा, निर्वाचन आयुक्त अशोक लवासा, वरीय उप निर्वाचन आयुक्त उमेश सिन्हा, उप निर्वाचन आयुक्त सुदीप जैन, संदीप सक्सेना, चंद्र भूषण कुमार, महानिदेशक व्यय दिलीप शर्मा, महानिदेशक धीरेंद्र ओझा, प्रधान सचिव केएन भार तथा अपर मुख्य सचिव सह मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल ख्यान्गते आदि उपस्थित रहे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *