कोयला लदी मालगाड़ी बेपटरी, कोई हताहत नहीं

ट्रैक के आसपास कोयले की मची लूट/ ललमटिया से फरक्का जा रहा था कोयला/ रास्ते में हो गयी टे्रन डीरेल

गोड्डा/नगर संवाददाता। राजमहल परियोजना के एनटीपीसी ललमटिया से फरक्का जा रही एमजीआर कोयला लदी मालगाड़ी 15 वें किलोमीटर की दूरी पर बोआरीजोर के पास ही मंगलवार को दुर्घटनाग्रस्त हो गयी। इसमें मालगाड़ी का आठ डिब्बा बेपटरी हो गया। जिससे आसपास के इलाके में हड़कंप मच गया। घटना के बाद रेलवे की रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची और राहत कार्य शुरू किया। वैगन पलटने से कइयों के पहिए पटरियों से दूर जा गिरे और अप व डाउन लाइनों पर कोयला फैल गया। मालगाड़ी दुर्घटनाग्रस्त होने की सूचना आसपास के गांवों में फैल गयी। जुटे आसपास के लोगों ने साइकिल पर लाद कर कोयला ले जाने लगे। मालगाड़ी में कुल 44 डिब्बा लगा हुआ था, इसमें आठ डिब्बा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है।

ललमटिया के आउटर पर हुआ हादसा

मिली जानकारी के अनुसार, कोयले से लदी मालगाड़ी फरक्का जा रही थी। जैसे ही मालगाड़ी ललमटिया के आउटर पर पहुंची पास कई डिब्बे पटरी से उतर गये। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार डिब्बे उतरने से पूर्व मालगाड़ी को तेज झटके में देखा गया और देखते ही देखते बीच में लगे डिब्बे ट्रैक से उतरने लगे। लोगों के अनुसार जैसे ही डिब्बे पटरी से उतरे उनके आपस में टकराने से बहुत तेज आवाज आने लगी। थोड़ी देर बाद एनटीपीसी की रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची और राहत कार्य शुरू किया। डिब्बों के पटरी से उतरने के बाद कई डिब्बे बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गये। उनके तमाम पार्ट्स डाउन ट्रैक पर भी आ गिरे। जिसके बाद दोनों ट्रैकों को तत्काल बंद कर दिया गया। ड्राइवर ने बताया कि वह निर्धारित स्पीड से कम स्पीड पर चल रहा था, अचानक जोर का झटका लगने लगा और फिर डिब्बे पटरी से उतरने लगे।

टूटी पटरी से घटी दुर्घटना?

दुर्घटना का कारण तो जांच के बाद ही सामने आएगा, लेकिन प्रथम दृष्टया यह दुर्घटना टूटी पटरी होने के चलते होने की आशंका कर्मी जता रहे हैं। जिस ट्रैक पर मालगाड़ी जा रही थी, उस पर एक जगह पटरी टूटी साफ दिखाई पड़ रही है। माना जा रहा है कि हादसा इसी टूटी पटरी के चलते हुआ है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *