हत्याकांड मामले में अलग-अलग जगहों से तीन की गिरफ्तारी

दवा कारोबारी विनोद वाजपेयी की हत्या मामले में ताबड़तोड़ पुलिसिया कार्रवाई /मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी के लिए हरियाणा व दिल्ली में भी छापामारी /गिरफ्तार छोटू श्रृंगारी, कन्हैया सिंह और दीपक कापरी से पूछताछ जारी/अपराधियों को शीघ्र सजा दिलाने के लिए होगा स्पीडी ट्रायल: एसपी/हत्याकांड में अबतक गिरफ्तार 7 आरोपियों में तीन का रहा है आपराधिक इतिहास

देवघर/संवाददाता। विनोद वाजपेयी हत्याकांड मामले के राजफास के लिए पुलिस ताबड़तोड़ छापामारी कर रही है। इसी क्रम में शनिवार को तीन अपराधियों छोटू श्रृंगारी, कन्हैया सिंह और दीपक कापरी को पुलिस ने गिरफ्तार किया। इससे पहले शुक्रवार की रात भी एक अपराधी ऋषभ राज उर्फ ऋषभ केशरी पुलिस गिरफ्त में आया। हालांकि हत्याकांड का मुख्य आरोपी केशव दुबे अभी फरार है। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस दिल्ली व हरियाणा में भी छापामारी कर रही है। इधर, अरेस्ट किये गये अपराधियों से पूछताछ में पुलिस को कई अहम सुराग हाथ लगे हैं। एसपी नरेंद्र कुमार सिंह ने गिरफ्तार सात लोगों से पूछताछ में सामने आये तथ्यों के हवाले से बताया है कि अरेस्ट किये गये कन्हैया सिंह और दीपक कापरी ने केशव को हथियार मुहैया कराया था। कन्हैया मुंगेर के मुफ्फसिल थाना के दरियापुर का रहने वाला था। वह फिलहाल जसीडीह स्थित पगला बाबा में रह रहा था। इसी दौरान दीपक ने केशव से संपर्क कराया था।

दूसरे राज्यों में भी पुलिस ने बढ़ायी दबिश

पुलिस ने विनोद हत्याकांड में देश के दूसरे राज्यों में भी दबिश बढ़ायी है। एसपी ने बताया कि केशव दुबे की गिरफ्तारी के लिए पानीपत स्थित केशव की बड़ी बहन के आवास पर और दिल्ली में उसके रिश्तेदार हरिओम दुबे के आवास पर छापेमारी की गई। उक्त कांड में शीघ्र सजा दिलाने के लिए कांड को स्पीडी ट्रायल के लिए चयनित किया गया है। छापेमारी के लिए एसपी के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया गया था। इस टीम में एसडीपीओ विकास चंद्र श्रीवास्तव, साइबर डीएसपी नेहा बाला, पुनि सह नगर थाना प्रभारी श्याम किशोर महतो, पुअनि सह थाना प्रभारी मोहनपुर दीपक कुमार, सअनि रामानुज सिंह, फैयाज खां, आरक्षी विश्वजीत कुमार और कृष्णा पूर्ति शामिल थे।

देसी कट्टा व कारतूस के साथ पकड़ाया ऋषभ

हत्याकांड के आरोपी केशव दुबे का करीबी ऋषभ केशरी को पुलिस ने बीती रात गिरफ्तार किया था। उसके पास से एक देसी कट्टा, 3.15 एमएम की दो गोली और एक काले रंग की पल्सर बाईक बरामद हुई। वैसे अबतक की छापेमारी में पुलिस ने नगर थाना क्षेत्र के महावीर अखाड़ा निवासी ऋषभ केशरी पिता पंकज केशरी, बसमत्ता निवासी सोनू कुमार पिता लक्ष्मी यादव, बीएन झा पथ तक्षशिला विद्यापीठ के निकट से छोटू श्रृंगारी पिता मुखी श्रृंगारी, रिखिया थाना क्षेत्र के बलकरा निवासी दीपक कापरी पिता विनोद कापरी, कुंडा थाना के ठाढ़ी दुलमपुर निवासी बबन दास पिता रवींद्र दास, जसीडीह थाना क्षेत्र से कन्हैया सिंह पिता विजय सिंह और केशव दुबे की मां दुर्गा देवी पति कैलाश पति दुबे को गिरफ्तार किया है।

सोनू, ऋषभ और छोटू आपराधिक पृष्ठभूमि का

एसपी ने बताया कि विनोद वाजपेयी हत्याकांड में संलिप्त गिरफ्तार अपराधियों में सोनू, ऋषभ और छोटू का आपराधिक इतिहास रहा है। ऋषभ केशरी पर धोखाधड़ी, दूसरे के घर में घुसकर मारपीट, रंगदारी और हत्या जैसे चार मामले और छोटू पर धमकी देने, रंगदारी, वसूली, मारपीट और हत्या जैसे आठ मामले दर्ज हैं। सौनू पर भी नगर थाना और कुंडा थाना मेें कई मामले दर्ज हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *