सरेशाम देवघर कोर्ट के मुंशी की गोली मारकर हत्या

एक बार फिर गोली, बिखरे खून और हत्या से दहला देवघर/देवघर कोर्ट के मुंशी सुजीत कुमार सिन्हा की दाहिनी कनपट्टी पर मारी गोली

देवघर/संवाददाता। बीते साल के आखिरी महीने को हत्या से अलविदा करने वाले देवघर के अपराधियों से साल का पहला महीना भी नहीं बच सका। अपराधियों ने यहां देवघर कोर्ट के एक मुंशी 48 वर्षीय सुजीत कुमार सिन्हा की दाहिनी कनपट्टी पर गोली दागकर शुक्रवार की सरेशाम उनकी जान ले ली। अपराधियों ने इस हत्या को तब अंजाम दिया है, जब पुलिस एंटी क्राईम चेकिंग चला रही है। इस हत्याकांड ने पुलिस को फिर से एक बड़ी चुनौती दी है। अपराधियों ने इस हत्याकांड को बमबम बाबा कॉलोनी में अंजाम दिया है। अपराधियों की गोली के शिकार हुए सुजीत बिहार के जमुई जिला के गिद्धौर थाना स्थित रतनपुर निवासी थे।

कैसे दिया घटना को अंजाम

शुक्रवार की शाम करीब साढ़े पांच बजे सुजीत कुमार सिन्हा बाइक से मीना बाजार आये थे और सब्जी लेकर अपने निवास बमबम बाबा कॉलोनी को लौट रहे थे। इसी दौरान अपराधियों ने घर के सामने उनकी दाहिनी कनपट्टी में गोली मार दी। जिससे घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गयी। मौका देख तीन अपराधी बाइक पर सवार होकर फरार हो गये। गोली की आवाज सुनकर सुजीत की पत्नी दौड़कर बाहर आयी तो सुजीत को खून से लथपथ मृत अवस्था में पाया। इसी दौरान एक बाईक से तीन अपराधियों को भागते देखा। गोली की आवाज सुन स्थनीय लोग भी घटनास्थल पर पहुंचे। स्थानीय लोगांें ने फोन से पुलिस को घटना की जानकारी दी।

सूचना पर पहुंचे पुलिस अधिकारी

हत्या की सूचना मिलते ही एसडीपीओ विकास चंद ्रश्रीवास्तव व नगर थाना प्रभारी श्याम किशोर महतो सदलबल घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने मौके से मृतक का मोबाईल बरामद किया है। पुलिस मृतक के मोबाईल का कॉल डिटेल खंगाल रही है। मृतक के छोटे भाई नन्हे राजेश ने पुलिस को दिए बयान में बिहार के जमुई जिला के खैरा थाना स्थित धरमपुर निवासी अंजनी कुमार सिन्हा, नीरज कुमार सिन्हा, सुमन कुमार सिन्हा पर हत्या का आरोप लगाया है। नन्हें ने बताया कि वे लोग जमुई जिले के गिद्धौर थाना स्थित रतनपुर निवासी हैं। सुजीत देवघर कोर्ट में मुंशी थे। वे शाम में सब्जी लेकर घर आ रहे थे। इसी दौरान बमबम बाबा कॉलोनी स्थित घर के सामने घात लगाये बदमाशों ने घटना को अंजाम दिया।

लगातार हो रही हत्या से दहशत में देवघर

हाल के दिनों में देवघर के अपराधियों के लिए किसी की जान लेना मामूली बात हो गयी है। आठ दिसंबर को दवा व्यवसायी विनोद वाजपेयी की पानी टंकी के पास गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। वहीं 16 नवंबर को शराब दुकानदार अभिषेक राय को कमर में गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। जबकि जुलाई में रमेश हरि व उसके एक साथी की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। साथ ही हाल के दिनों में अपराधियों ने कई जगहों पर गोेलीबारी कर शहर में दहशत का माहौल बनाया है।

क्या कहते हैं एसडीपीओ

एसडीपीओ विकास चंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। मृतक के मोबाईल का कॉल रिकॉर्ड निकाला जा रहा है। मृतक के परिजनों से पुलिस पूछताछ कर रही है। पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। जल्द ही सारे आरोपी पुलिस गिरफ्त में होंगे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *