कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रामजतन सिन्हा होंगे जदयू में शामिल

जहानाबाद। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मंत्री रामजतन सिन्हा ने रविवार को जदयू में शामिल होने का ऐलान किया है। 12 फरवरी को पटना में उन्होंने जदयू का दामन थामने की घोषण की है। जहानाबाद में रविवार को पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि कांग्रेस से अब उनका मोहभंग हो गया है। एक अरसा गुजर जाने के बावजूद कांग्रेस ने उनके साथ पार्टी में कभी भी इंसाफ नहीं किया। उनकी घोषणा से बिहार में एक नया सियासी समीकरण का बनना तय माना जा रहा है।

वे पूरे लाव-लश्कर के साथ जहानाबाद सर्किट हाउस पहुंचे और कहा कि पार्टी की लंबे समय तक सेवा करने के बाद भी उनके साथ न्याय नहीं हुआ। सो, अब वे अब ज्यादा दिनों तक राजनीतिक वनवास नहीं झेलेंगे। पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य में नीतीश कुमार को सबसे बेहतर बताते हुए 12 फरवरी को पटना के बापू सभागार में जदयू की सदस्यता ग्रहण करने की घोषणा कर दी है।

जदयू में शामिल होने के बाद जहानाबाद लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के सवाल पर रामजतन सिन्हा ने इसे जदयू के शीर्ष नेतृत्व और एनडीए पर छोड़ दिये जाने की बात की। उन्होंने राजद पर निशाना साधते हुए कहा की अगर बिहार में राजद फिर सत्ता में आती है तो जातीय तनाव बढ़ेगा और बिहार के विकास पर बुरा असर पड़ेगा।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2015 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान रामजतन सिन्हा ने हाथ का साथ छोड़ जहानाबाद के कुर्था विधानसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के बतौर चुनाव लड़ा था। लेकिन, चुनाव हारने के बाद वे राजनीतिक तौर पर बहुत सक्रिय नहीं रहे। लेकिन बिहार कांग्रेस के अंदर अपने विरोधी खेमे को मजबूत देख रामजतन सिन्हा ने तय मान लिया था कि अब उनकी कांग्रेस में वापसी संभव नहीं। ऐसे में उन्होंने जदयू में शामिल होने का फैसला लिया।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *