सुपारी किलर से भाई ने ही करायी मुंशी की हत्या

पुलिस ने किया मुंशी सुजीत सिन्हा हत्याकांड का खुलासा/ गिरफ्तार दो शूटर ने पुलिस के सामने खोला राज/ तीन अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी/रिश्ते के भाई ने भूमि विवाद में दी थी हत्या की सुपारी

देवघर/संवाददाता। नगर थाना क्षेत्र के बम-बम बाबा कॉलोनी में पिछले 18 जनवरी को कोर्ट के मुंशी सुजीत कुमार सिन्हा की गोली मारकर हत्या मामले का उद्भेदन देवघर पुलिस कर लिया है। दो शूटरों की गिरफ्तारी से इस हत्याकांड का राजफास हुआ। मामले में एसपी नरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि मृतक के रिश्ते के भाई ने ही भूमि विवाद में उसकी हत्या किराये के शूटर को सुपारी देकर करायी थी। इस हत्याकांड में बांका जिले के शंभूगंज गढ़ी करमा के शिव कुमार व जमुई के खैरा महापुर निवासी बुधन तुरी को गिरफ्तार किया गया है।



चिरोडीह की जमीन को लेकर चल रहा था विवाद

एसपी श्री सिंह ने बताया कि नीरज सिन्हा पिता अंजनी कुमार सिन्हा के साथ मुंशी सुजीत सिन्हा का रिखिया थानातंर्गत चिरोडीह की भूमि को लेकर विवाद चल रहा था। इसी विवाद में सुजीत कुमार सिन्हा की हत्या गोली मारकर की गयी। उन्होंने बताया कि चिरोडीह में नीरज सिन्हा ने भूमि ली थी, जिस पर सुजीत कुमार सिन्हा ने चहारदिवारी तोड़वाया। इसी से विवाद बढ़ा था और अंजनी सिन्हा ने खैरा के शूटर बुधन तुरी को 50 हजार रुपया में हत्या करने की सुपारी दी थी। उसने तुरी को अग्रिम के बतौर 3500 रुपया दिया था। पिस्तौल भी अंजनी ने ही मुहैया कराया था। जबकि शिव कुमार ने सुजीत की पहचान बुधन से करायी।

सुजीत की हत्या के बाद टिंकू सिंह की बाईक पर सवार होकर शिव कुमार व बुधन तुरी बंधा में छिपा और बाद में अपने-अपने गृह क्षेत्र चला गया। पुलिस को घटना के 2 दिन बाद ही पूरी कहानी मालूम हो गयी थी, लेकिन छापेमारी में देर हुई और दो अपराधियों की गिरफ्तारी हुई है। टिंकू सिंह, नीरज सिन्हा और अंजनी सिन्हा की गिरफ्तारी को लेकर लगातार छापेमारी जारी है। पुलिस ने घटना के दिन उपयोग में लाया गया तीन मोबाईल बरामद किया है। छापेमारी दल में नगर थाना प्रभारी श्याम किशोर महतो, सहायक अवर निरीक्षक रामानुज सिंह, विजय कुमार मंडल, श्रीकांत बाजपेयी, हवलदार परमानंद मंडल, आरक्षी अखिल कुमार पांडेय, उमेश कुमार यादव आदि उपस्थित थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *