पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा का राज्य भर में आक्रोश पूर्ण रैली सह न्याय यात्रा

धनबाद। पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा का स्थायीकरण के मुद्दे पर सरकार द्वारा नियमावली गठित करने में विलंब के विरोध में राज्य भर के 65 हजार पारा शिक्षक एक बार फिर से आंदोलन का शंखनाद कर दिया है। रविवार को एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा राज्य भर में आक्रोश पूर्ण रैली सह न्याय यात्रा निकाला। धनबाद में गोल्फ ग्राउंड से रैली शुरू होकर मिश्रित भवन , सिटी सेंटर , उपायुक्त आवास , कोर्ट मोड़ होते हुए रणधीर वर्मा चौक पहुँचकर धरना में तब्दील हो गई। धरने में पारा शिक्षकों ने बीजेपी हाय हाय के नारे लगाए। संघ के जिला सचिव मो0 शेख सिद्दिकी ने कहा कि स्थायीकरण के सवाल पर नियमावली बनाने को लेकर 17 जनवरी 2019 को सरकार के साथ समझौता वार्ता हुई। सरकार की तरफ से नियमावली बनाने में 90 दिन का समय मांगा गया। आज 90 दिन के बजाय 180 दिन बीत जाने के बाद भी सरकार नियमावली पर कोई पहल नही की। रघुवर सरकार पारा शिक्षकों के साथ वादा खिलाफी कर रही है। हम पारा शिक्षकों को सरकार आश्वासन और वादा देकर छोड़ देती है और अपने वादे से मुकर जाती है। जिले में पारा शिक्षको की संख्या 2869 है। पारा शिक्षक रोज आर्थिक तंगी के शिकार होकर किसी न किसी रूप मे मर रहे हैं और सरकार हमारे ऊपर शोषण करती जा रही है अब बरदाश्त नहीं होगा। अब सरकार के साथ आरपार की लड़ाई लड़ी जाएगी। 5 सितम्बर तक नियमावली गठित नही होने पर रांची में उग्र आंदोलन किया जाएगा। राज्य भर के 65 हजार पारा शिक्षक आंदोलन में शामिल होंगे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *