गैरमजरूआ जमीन मामले में सरकार के खिलाफ JMM का धरना।

गिरिडीह। सोमवार को शहर के अम्बेडकर चौक पर गिरिडीह JMM के द्वारा रघुवर सरकार के गैरमजरूआ जमीन के मामले मे सरकार के विरोध मे धरना दिया गया ।हालांकि यह मामला कोई JMM से जुड़ा नही है बल्कि सीधा जनता से जुड़ा हुआ है। सूत्रों की माने तो सरकार के इस फैसले से जनता मे भारी नाराजगी और आक्रोश भी देखा जा रहा है ।

क्या है मामला:- सालों से अपनी जमीन पर घर बना कर रह रहे लोगो का जमीन का रशीद कटना बंद हो गया कारण की सरकार ने जमीन को गैरमजरूआ घोषित कर रखा है । इसका मतलब यह हुआ की जो अपने को जमीन का स्वामी समझ रहे है उसे सरकार के इस फैसले ने अवैध घोषित कर दिया और साथ ही विपक्ष के हाथों मे बैठे बिठाये एक जबरदस्त मुद्दा थमा दिया।

इस मौके को जनता की लड़ाई बना कर JMM द्वारा नेतृत्व कर रघुवर सरकार के 65 पार के मंसूबो पर पानी फेरने का प्रयास किया जा रहा है और करे भी क्यों नही …..

सूत्रों की मानें तो कई विधायक भी सरकार के इस फैसले से खुश नही है और कहीं न कहीं यह मुद्दा उनके लिए आने वाले विधानसभा चुनाव पर भारी पड़ने वाला है ।

 

आज के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए JMM नेता सुदिव्य कुमार सोनू ने कहा की सिंहभूम जिले के पांचों विधानसभा क्षेत्रों में यही खबर आम है, साहेब को अब आशीर्वाद नहीं मिला! मुख्यमंत्री जी पश्चिमी सिंहभूम के तमाम जिले में अपने नुक्कड़ सभा के कार्यकर्मों में पैसे खर्च कर भी भीड़ नहीं जुटा पाए, BDO और CDPO के आदेश पर भी न मुखिया आये और न ही आंगनवाड़ी सेविकायें। चक्रधरपुर में आयोजित रोड शो का आलम यह था कि साहेब अपना हाथ हिलाते रहे लेकिन जनता अपने दुकानों से बाहर निकलने तक की जहमत नहीं उठाए। चाईबासा, मझगांव एवं जगन्नाथपुर में स्थिति यह है कि इनके कोई नेता भाजपा से टिकट तक नहीं लेना चाहते हैं। खरसावां में विरोध के भय से मुख्यमंत्री जी गए भी नहीं।

गौरतलब है आगामी 19 अक्टूबर को JMM की बदलाव महारैली रांची मे होनी है । अब देखना दिलचस्प होगा आसन्न विधानसभा चुनाव मे फिर से रघुवर सरकार आती है , अबकी बार 65 पार या झारखण्ड के बाहर ।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *